Nifty-kya-hai-hindi

Image Source - Google | Image by - CANVA
दोस्तों आज हम बात करने वाले है कि Nifty kya hai, Nifty का क्या काम है और ये कैसे काम करता है। आपने भी कभी न कभी देखा और सुना होगा कि nifty इतने अंक गिरकर बंद हुआ और इतने अंक की बढ़त हुई।  

आखिर इसमें बढ़त और गिरावट क्यों होती है आज हम जानेगे लेकिन यदि आप share market में निवेश करते है या निवेश करना चाहते है   

तो Nifty in hindi और sensex in hindi दोनों के बारे में सुना होगा। आखिर शेयर मार्किट में इनका क्या काम होता है और कैसे आप इनकी वजह से मुनाफा कमा सकते है तो चलिए शुरू करते है :-

निफ्टी क्या है?[Nifty in hindi]

Nifty in hindi का फुल फॉर्म NATIONAL STOCK EXCHANGE FIFTY होता है यदि आप इसके form full को ध्यान से देखेंगे तो आपको दिखेगा कि इसमें दो शब्द NATIONAL FIFTY शामिल है इसलिए इसे 'Nifty 50' भी कहा जाता है।  

और अपने नाम के अनुसार इसमें 50 कंपनी शामिल होती है। Nifty भारत एक महत्वपूर्ण Stock Index है। इसलिए ये इतना famous है।
   
ये NATIONAL STOCK EXCHANGE OF INDIA का एक Benchmark है दूसरे शब्दों में कहे तो Nifty (Nifty in hindi), National Stock Exchange में शामिल Top 50 कम्पनी के Shares का एक सूचिकांक होता है।  

शायद अब आप Nifty के बारे में basic जाएं गए होंगे Nifty की मदद से हम stock market के बारे में जान सकते है इससे आप stock market में होने वाली गिरावट और बढ़त के बारे में जान सकते है।

जैसा कि मैंने आपको बताया कि इसमें Top 50 companies शामिल होती है। ये देश कि उन Top 50 companies के share पर नजर रखता है।  

और ये देख-रेख करता है कि share में कितनी गिरावट हुई है और कितनी बढ़त। Nifty में 50 से ज्यादा कम्पनियो को शामिल नहीं किया जा सकता है। Nifty in hindi में 12 sector होते है जिनमे कुल 50 companies listed होती है।

भारत में दो सूचकांक होते है!
1.     Nifty – NSE
2.     S&P BSE Sensex
Nifty के बाद share market या देश के इस क्षेत्र में यदि कोई चीज famous है वो है:- Sensex जैसा कि मैंने आपको बताया कि "Nifty in hindi देश की उन Top 50 कंपनी की शेयर पर नजर रखता है।  

और ये देख-रेख करता है कि share में कितनी गिरावट हुई है और कितनी बढ़त" ये कंपनी National Stock Exchange [NSE] में शामिल होती है 

और Nifty in hindi इन्हे Indexed करता है। NSE में 1600 से ज्यादा company Registered होती है
इनमे से Top 50 कम्पनियो को ही NIfty में शामिल किया जाता है जिन्हे Nifty index करता है।

Nifty का क्या काम है

Nifty में listed 50 कंपनी बाजार में कैसा प्रदर्शन कर रही है इस चीज की देख रेख करना Nifty का काम होता है  

चलिए उदाहरण से समझते है:- कल्पना कीजिये आप एक company चलाते है और आपको अपनी कंपनी के लिए एक website बनवानी है। 
  
आपने इस काम को एक website making company को करने के लिए कहा। website बनने के बाद आप उसे अपने business में यूज़ करते है तो कुछ समय के बाद वो website अच्छा Perform करती है 

जिससे आपको ढेर सारा मुनाफा होता है। लेकिन यहाँ पर आपके सिवा उस website making company को भी फायदा होगा क्युकि वो website उस कंपनी के द्वारा बनाई गयी थी।

यदि आपसे कोई पूछेगा कि अपने website कहा से बनवायी है तो जाहिर सी बात है कि उस व्यक्ति को उस website making company के लिए recommend करेंगे जिससे उस company को भी फायदा होगा।

ठीक इसी तरह Nifty भी काम करता है यदि listed कंपनी अच्छा perform करती है तो उसकी Share market में भी कीमत बढ़ेगी। 

क्युकि वो कंपनी Nifty में registered है तो Nifty में भी बढ़त देखने को मिलती है। इससे ये समझने को मिलता है कि यदि वो कंपनी अच्छा काम रही है या ख़राब कर रही है।   

तो उसका सीधा असर उस कंपनी की share market value में देखने को मिलता है। और वही असर nifty में भी देखने को मिलता है।  

यदि लाभ होता है तो Nifty के rate में भी उछाल देखने को मिलेगी यदि हानि होती है तो Nifty के रेट में भी गिरावट देखने को मिलेगी। इसलिए निफ़्टी में बढ़त और गिरावट होती है।

Nifty Top 50 companies को कैसे चुना जाता है

Nifty Top 50 companies: Nifty में शामिल होने के लिए देश के 12 sector की 50 अलग-अलग सबसे बड़ी, सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी ,आर्थिक रूप से मजबूत तथा सबसे ज्यादा Market cap वाली कंपनियों को चुना जाता है। 

ये कम्पनी Media, Information technology, Auto, Bank, Pharma, Metal, FMCG, Energy, Real estate, Financial Services आदि क्षेत्र ली जाती है। 

BSE kya hai[Bombay Stock Exchange]

BSE (Bombay Stock Exchange) की स्थापना 1875 में की गई थी। BSE, Asia का पहला और सबसे तेज़ Stock exchange है, 

पिछले 143 वर्षों में, BSE ने भारतीय Corporate sector के विकास को easy बनाने के लिए इसे एक कुशल पूंजी जुटाने का Platform बनाया गया है।

ज्यादातर लोग इसे BSE के रूप में जाना जाता है, 1875 में इसकी स्थापना 'The Native Share & Stock Brokers' Association' के रूप में की गई थी।

2017 में BSE भारत का पहला listed stock exchange बन गया। BSE देश में पहला stock exchange बना
जिसे Securities Contract Regulation Act, 1956 के तहत स्थायी मान्यता दी गई थी। इसमें 6000 से ज्यादा कंपनी लिस्टेड है।

Market capitalization के अनुसार दुनिया में इसकी 10th market है। और Nifty में इसकी हिस्सेदारी है।

NSE kya hai[National Stock Exchange]

NSE (National Stock Exchange) भारत का सबसे बड़ा और वर्तमान तकनिकी रूप से leading stock exchange है। 

NSE मुंबई में स्थित है। इसकी स्थापना 1992 में हुई थी। 
कारोबार के लिहाज से देखा जाये तो NSE विश्व का तीसरा सबसे बड़ा stock exchange है।

NSE ने 1994 में Electronic screen-based Trading, index trading और 2000 में Internet trading की शुरुआत की, जो भारत में इस तरह का काम करने वाला पहला कारोबार था।

NSE Index- Nifty 50 का उपयोग Barometer के रूप में लगभग पुरे विश्व के बाज़ारो की तुलना में बहुत ज्यादा किया जाता है।
इसके VSAT terminal भारत के लगभग 322  शहरों तक फैले हुए हैं।    

इसमें 1600 से ज्यादा company listed है। Market capitalization के अनुसार दुनिया में 11th market है। 
Daily turnover के हिसाब से ये BSE (Bombay Stock Exchange) से बड़ा है। और इसमें Sensex में इसकी हिस्सेदारी है।

Nifty की गणना कैसे की जाती है?
Nifty kya hai इसकी गणना sensex की तरह ही की जाती है। जिसमे Free-float Market  Capitalisation और sensex की गणना में प्रयोग की जाने वाले पद्धति का प्रयोग किया जाता है लेकिन सेंसेक्स की तुलना में कुछ चीजे इसमें बदल जाती है। 
  
जैसे:- Nifty kya hai इसकी गणना करते समय आधार वर्ष (base year) 1995 और आधार वैल्यू (base value) 1000 का प्रयोग करते है।
Nifty की गणना करते समय देश के 12 सेक्टर की 50 अलग-अलग कंपनियों को चुना जाता है।


Nifty 50 index को कौन मैनेज करता है?
NIFTY 50 in Hindi का मालिक India Index Services and Products Ltd (IISL) है और IISL के द्वारा NIFTY 50 in Hindi को Manage किया जाता है।

IISL, NSE की सहायक कंपनी है और IISL की एक विशेष टीम NIFTY 50 Index को Manage करती है। इसके साथ ये टीम NIFTY brand के तहत सभी 67 अन्य सूचकांक पर भी Focus करती है। IISL भारत की विशेष कंपनी है, 

जो एक मुख्य उत्पाद के रूप में सूचकांक पर Focus करती है। ये एक त्रिस्तरीय शासन संरचना [Three tier governance structure] है 
जिसमें IISL के निदेशक मंडल, सूचकांक नीति समिति और सूचकांक रखरखाव उप-समिति शामिल होते हैं।

Bank Nifty क्या है [Bank Nifty in Hindi?]

जैसा कि मैंने आपको बताया कि NIFTY kya hai, Top 50 company और उनके shares के बाजार में हो रहे उतार-चढ़ाव के बारे में जानकारी देता है।

Bank Nifty को हम NIFTY Bank के नाम से भी जानते है। Bank Nifty भारतीय बैंकिंग क्षेत्र के 12 सबसे बडे stock shares के बारे में जानकारी देता है।  

जो NSE में लिस्टेड होते है। Nifty में BANK NIFTY के share सबसे ज्यादा होते है लेकिन यह list बदलती रहती है।
Bank nifty का Nifty 50 पर असर जरूर पडता है। इसलिए आप समय-समय पर इसकी जानकारी लेते रहिये।

Latest जानकारी लेने के लिए आप news paper, news channel या Internet की मदद ले सकते है। 

Nifty का मूल्य Sensex से कम क्यों होता है?

NIFTY 50 और BSE SENSEX दोनों सूचिकांक है और ये समय समय पर बदलते रहते है यहाँ इन 2 सूचकांकों में अंतर हैं,
  • SENSEX: Base year 1978-79, और  base price 100
  • Nifty: Base year 1995 और base price 1000
जैसा की इस record को देखकर आपको पता चल रहा है कि sensex की शुरुआत के करीब 17 सालो के बाद Nifty in hindi की शुरुआत के हुई

इसलिए Nifty in hindi का मूल्य Sensex से कम होता है। यदि Nifty और sensex एक सामान वर्षो में शुरू हुए होते है इन दोनों का मूल्य सामान होता है। 
  • Share Market में ट्रेडिंग कैसे करे? 



निफ़्टी के फायदे [Benefits of Nifty]

NIFTY में listed 50 कंपनियों के share सबसे ज्यादा ख़रीदे व बेचे जाते है। आप Nifty की मदद से देश की अर्थव्यवस्था की जानकारी रख सकते है। 

यदि NIFTY kya hai इसकी कीमत बढ़ रही है तो अर्थव्यवस्था भी बढ़ने के chances काफी बढ़ जाते है यदि NIFTY kya hai इसकी कीमत घट रही है तो अर्थव्यवस्था भी घटने के chances काफी बढ़ जाते है

निफ़्टी मदद से हम NSE की जानकारी भी प्राप्त कर सकते है। उसके बाजार में किस प्रकार का प्रदर्शन चल रहा है। 
निफ़्टी की मदद से उसमे registered company की हानि और लाभ के बारे में जानकारी ले सकते है

registered company के share के मूल्य बढ़ते या घटते है 
तो उसी प्रकार उसके Business में फायदा या नुकसान होता है। इससे बाजार में चल रही मंदी या मुनाफे के बारे में एक नजर में पता लग जाता है। 

निफ्टी की सूचीबद्ध [List of Nifty 50 Companies]  

NIFTY 50 companies as on 14-Apr-2020
वर्तमान की टॉप कंपनी देखने के लिए यहां क्लिक करे 
  • HDFC Bank Ltd.
  • Reliance Industries Ltd.
  • Housing Development Fin. Corp. Ltd.£
  • Infosys Limited
  • ICICI Bank Ltd.
  • Tata Consultancy Services Ltd.
  • Kotak Mahindra Bank Limited
  • Hindustan Unilever Ltd.
  • ITC Ltd.
  • Larsen and Toubro Ltd.
  • Bharti Airtel Ltd.
  • Axis Bank Ltd.
  • State Bank of India
  • Asian Paints Limited
  • Bajaj Finance Ltd.
  • Nestle India Ltd.
  • Maruti Suzuki India Limited
  • HCL Technologies Ltd.
  • NTPC Limited
  • Power Grid Corporation of India Ltd.
  • Titan Company Ltd.
  • Sun Pharmaceutical Industries Ltd.
  • Dr. Reddys Laboratories Ltd.
  • UltraTech Cement Limited
  • Tech Mahindra Ltd.
  • Britannia Industries Ltd.
  • Coal India Ltd.
  • Wipro Ltd.
  • Bajaj Finserv Ltd.
  • Mahindra & Mahindra Ltd.
  • Bajaj Auto Limited
  • Bharat Petroleum Corporation Ltd.
  • Oil & Natural Gas Corporation Ltd.
  • Shree Cement Ltd.
  • Cipla Ltd.
  • Indusind Bank Ltd.
  • Hero MotoCorp Ltd.
  • Indian Oil Corporation Ltd.
  • Tata Steel Ltd.
  • Adani Ports & Special Economic Zone
  • Grasim Industries Ltd.
  • Eicher Motors Ltd.
  • UPL Ltd.
  • JSW Steel Ltd.
  • GAIL (India) Ltd.
  • Hindalco Industries Ltd.
  • Bharti Infratel Ltd.
  • Tata Motors Ltd.
  • Vedanta Ltd.
  • Zee Entertainment Enterprises Ltd.
  • Yes, Bank Ltd.  

Nifty और Sensex में क्या अंतर है?

Nifty aur sensex kya antar hai जानना चाहते है तो मैं आपको बता दू कि इनमे कुछ ज्यादा अंतर नहीं होता है थोड़ा बहुत अंतर होता है जो इस प्रकार है
  • Nifty में NSE की 1600 में से Top 50 companies लिस्टेड होती है जब कि sensex in hindi में BSE की 6000 में से टॉप 50 कम्पनिया लिस्टेड होती है
  • NIFTY की स्थापना 1995 में की गयी थी और Sensex  की स्थापना 1986 में की गयी थी।
  • Nifty National Stock Exchange [NSE] का हिस्सा है, Sensex Bombay Stock Exchange [BSE] का हिस्सा है।
  • निफ़्टी और सेंसेक्स दोनों ही भारत के महत्वपूर्ण Stock Index है।
  • निफ़्टी में [NSE] का हिस्सा है जबकि सेंसेक्स में [BSE] का हिस्सा होता है।

Index के उतार-चढ़ाव का क्या मतलब है?
Index में उतार चढ़ाव ये दिखाता है कि भारत के कॉर्पोरेट क्षेत्र में शेयर बाजार में लाभ कमाने की उम्मीद भविष्य में बदलेगी जब सूचिकांक ऊपर जाता है  

तो यह इसलिए होता है कि share market में invest करने वाले लोगो को future में लाभ मिलेगा। जब index नीचे जाता है तो इसका मतलब होता है कि share market में invest करने वाले लोगो को future में हानि होगी। 

Ideal index की मदद से हम जान सकते है कि भारत के कॉर्पोरेट क्षेत्र का क्या भविष्य होगा। First index, Charles Dow द्वारा 1896 में share की औसत कीमत बताने के लिए बनाया गया था।

कितने प्रकार के index होते हैं?

अलग अलग Purpose and performance, Benefit के अनुसार अलग अलग प्रकार के index को बनाया जाता है। Types of index in hindi इस प्रकार है
  • Unique and non-unique indexes
  • Clustered and non-clustered indexes
  • Partitioned and nonpartitioned indexes
  • Bidirectional indexes
  • Expression-based indexes

Nifty के closing prices की गणना कैसे की जाती है?

Nifty के closing prices की गणना index के constituents के आखिरी के आधे घंटे के औसत मूल्य को ध्यान में रखकर की जाती है।
 

निष्कर्ष:-

आज हमने भी जाना कि NIFTY क्या है? Bank NIFTY क्या है, निफ़्टी के फायदे, NIFTY aur Sensex me kya antar hai, List of NIFTY 50 Companies, NIFTY 50 index को कौन मैनेज करता है, निफ्टी की गणना कैसे की जाती है? उम्मीद करते है कि आज कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी।

यदि आपको हमारी ये जानकारी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे। और कोई हमारे लिए सुझाव या प्रश्न हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताये।

Post a Comment

और नया पुराने