crowdfunding-kya-hai-hindi
Image Source - Google | Image by - CANVA
 
 
Crowdfunding क्या है? ये कैसे काम करती है? क्या आपने इसके बारे में पहले कभी सुना है यदि आप एक business करते हो या करना चाहते हो तो आपने इस बारे में जरूर सुना होगा क्युकि ये हर एक businessman का Favorite topic है ये Favorite क्यों है इसके बारे में हम आगे बात करेंगे.
 
दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम जानने वाले है कि Crowdfunding क्या है?  Crowdfunding का इतिहास क्या है?  

इसके अलावा हम बात करेंगे Types fo Crowdfunding क्या है Rewards-based crowdfunding, Donation-based crowdfunding, Equity-based crowdfunding, Debt-based crowdfunding क्या है आखिर क्यों Equity-based crowdfunding भारत में बैन है?

यदि आप crowdfunding करना चाहते हो तो आपके लिए कौन सी crowdfunding सबसे अच्छी रहेगी ऐसे ही Crowdfunding in hindi से जुड़े कई प्रश्न है जिनके बारे में हम बात करने वाले है.

Crowdfunding क्या है (Crowdfunding in Hindi)

Crowdfunding जैसा की नाम सुनकर ही लग रहा है Crowd + funding जिसका मतलब कि भींड के द्वारा की गयी funding 

चलिए थोड़ा और बारीकी से समझते है Crowdfunding in hindi में किसी Project, Business Venture या Social welfare के लिए कई लोगो से थोड़ा-थोड़ा पैसा collect किया जाता है.

ऐसा किसी भी business को शुरू करने और उसे success बनाने के लिए किया जाता है इसमें सीधे किसी भी व्यक्ति पर ज्यादा भार नहीं पड़ता है बल्कि सभी मिलकर उसका थोड़ा-थोड़ा भार बाँट लेते है.
 
उदाहरण के लिए: कल्पना कीजिये - आप अपना एक startup शुरू करना चाहते है आपके पास सब कुछ है. जैसे good sense of timing, cleanest budget on the block, Self-discipline, Super sharp social skills, Flexibility, knowledge लेकिन आप के पास पैसे नहीं है उसको शुरू करने लिए. ऐसी ही situation में आपका साथ देता Crowdfunding in hindi.

Crowdfunding कैसे की जाती है इसके बारे में हम आगे बात करेंगे Crowdfunding में पैसा देने वाले लोगो को भली-भांति पता होता है कि कहा और क्यों वो पैसे दे रहे है. 

कई लोग Crowdfunding के द्वारा collect किये गए पैसे वो business में यूज़ करते है क्युकि वो business को बढ़ाना चाहते है और वही कई लोग पैसे से पैसे को बढ़ाने के लिए भी इसका उपयोग करते है.
यही आप startup करने में interest रखते हो तो ये विधि उनके लिए भी बहुत successful साबित हो सकती है क्युकि कई लोगो ने ऐसे ही business को शुरू किया है.
 
आपको याद होगा कि यदि कभी हमारे आस पास कोई जगराता,राम -लीला, गणेश चतुर्थी, दुर्गा पूजा या कोई पर्व होता है सड़क का निर्माण हो या मंदिरो का तो उस समय हम सब मिलकर चंदा collect करते है ये भी एक तरह की Crowdfunding ही है.

ऐसा करने से कार्यक्रम का पूरा खर्च किसी भी एक व्यक्ति पर नहीं पड़ता है बल्कि हम सब मिलकर ये काम आसानी से कर लेते है.
 
चलिए आपको बचपन में लेके चलते है आपको याद होगा कि जब हमारे स्कूल में कोई फेरीवल, टीचर डे, School festival होता था तो सब बच्चे मिलकर पैसे collect करते थे वो भी एक प्रकार की Crowdfunding ही होती थी.

जैसा कि आपको समझ रहा होगा कि ये कोई नई चीज नहीं है हम भारतीय ये सब पहले से करते रहे है हो सकता है दूसरे देशो में भी ये पहले से हो रहा हो.
 
आज के Internet के युग में इसको बहुत बड़ी पहचान मिली है ऐसा क्यों हुआ है चलिए समझते है जैसा कि आप जानते है आज के समय में किसी Business या project को शुरू करने के लिए अच्छे खासे पैसो की जरुरत होती है

लेकिन हम में से बहुत से लोगो के पास इतने पैसे नहीं होते है जिससे Business की शुरुआत कर सके लेकिन हमारे पास talent की कमी नहीं होती है ऐसे में आप Crowdfunding in hindi के जरिये से पैसे collect करके अपना business start कर सकते हो.
 
यदि आप Normal Crowdfunding(Local Crowdfunding) करते हो तो आप सिर्फ कुछ सिमित लोगो तक पहुंच सकते हो ठीक उसी तरह जैसे हम किसी festival के लिए लोगो से चंदा इक्कठा करते है. 

लेकिन यदि आप Crowdfunding के लिए Internet की help लेते हो तो आपको किसी भी व्यक्ति के पास खुद नहीं जाना होगा यहाँ आप Interested people को खुद target कर सकते हो.
उनको अपना project बता सकते हो यदि उनको आपका project पसंद आता है तो आपको fund देंगे और आप Business start कर सकते हो.

ऐसे में आपकी सभी चीजे short हो गयी है बस आपको अपना अच्छा सा project तैयार करना है और Interested लोगो को approach करना है। Crowdfunding Internet की help से कैसे कर सकते है आगे बात करेंगे.

Crowdfuding का इतिहास


जैसा कि हम जानते है भारत में crowdfunding बहुत पहले से की जा रही है दुनिया में लगभग सन्न 1700 से Crowdfuding देखने को मिल रही है उस समय Crowdfuding लोकल में होती थी.

लेकिन आज Crowdfuding globally बड़े आराम से Internet की मदद से की जा सकती है। लेकिन हम बात करेंगे कि Crowdfuding officially कब शुरू गयी और कब सक्सेस्स्फुल्ली Crowdfuding की गयी थी? Modern day crowdfunding की शुरुआत कब हुई?

Quick Tips For Crowdfunding

भारत में Crowdfuding के नियमो को SEBI(Securities and Exchange Board of India) द्वारा संचालित किया जाता है
 
भारत में Crowdfuding दूसरे देश में की जाने वाली Crowdfuding में कुछ अंतर होता है जैसे भारत में Equity-based crowdfunding  बैन है
 
Crowdfuding बहुत सी जगहों में कारगर साबित हुई है जैसे सन्न 1985 में अमेरिकी सरकार ने "Statue of Liberty" को बनाने के लिए Crowdfuding की थी 

जिसमे लगभग 160,000 लोगो ने अपना योगदान दिया था. किसी कारणवश ये crowdfunding क्या है समझ न होने के कारण उम्मीद के मुताबिक उतनी success नहीं हो पायी थी.

लेकिन ध्यान रखिये कि उस समय Crowdfuding लोकल तौर पर की गयी थी उस समय Internet नहीं था. जब Internet लोगो तक पंहुचा तो ये artists और  musicians के बीच काफी तेजी से famous हुआ.
 
जिसका example है British rock band जो 1997 में first online crowdfunding campaign करके बहुत तेजी से फेमस हुआ. Successful हुआ और इसने $60000 usd का धन collect किया 
 

Modern-day crowdfunding की शुरुआत

Modern day crowdfunding की शुरुआत की शुरुआत सन्न 1997 में की गयी थी

Artistshare की शरुआत 2001 में की गयी थी जो दुनिया का First online crowdfunding platform है  

इसने अपने पहले में ही compaign में  $130,000 जुटाए थे. इसके बाद कई crowdfunding platform का जन्म हुआ जिसमे Indiegogo, Kickstarter,  GoFundMe,  CircleUp, Patreon आदि। 
Types fo Crowdfunding

Crowdfunding 4 प्रकार की होती है. 
  1. Rewards-based crowdfunding 
  2. Donation-based crowdfunding
  3. Equity-based crowdfunding 
  4. Debt-based crowdfunding

Rewards-based crowdfunding

जैसा कि नाम सुनकर ही आपको लग रहा होगा Rewards पर आधारित crowdfunding in hindi. इसमें Crowdfuding plateform द्वारा Bankers / Investors को एक निश्चित राशि निवेश या दान करने पर उनको Rewards दिए जाते है
 
Rewards-based crowdfunding लोगो के बीच बेहद लोकप्रिय है ये crowdfunding सिर्फ कुछ plateform द्वारा की जाती है

जिसमे Kickstarter, Indiegogo, Crowdfunder UK, Pozible, Vision Bakery, RocketHub, Thunderfund, Patreon आदि platform आते है।

Donation-based crowdfunding

जिसे नाम सुनकर ही लग रहा होगा कि दान पर आधारित crowdfunding जिसका मतलब है कि ऐसे Platform जिनको दान से पैसे मिलते है 

फिर भी वो दुसरो को medical treatment या किसी personal जरुरत के लिए बिना किसी commission के मदद करते है इसमें बड़ी संख्या में लोग छोटी धनराशि donate करते है 

JustGiving, Gofundme, DonorsChoose, GiveForward, mighty cause, fondly आदि Platform, Donation-based crowdfunding Platform के उदाहरण है
 

Equity-based crowdfunding

Equity-based crowdfunding में लोग किसी कंपनी के share खरीदने के बजाय उसमे निवेश करते है वो अक्सर उन companies में निवेश करते है जो share market में listed नहीं होती है 

जब हम share market में किसी company के share खरीदते है तो उस कंपनी में हमारा कुछ हिस्सा हो जाता है यदि कंपनी भविष्य में profit कमाती है
 
जो आपको भी profit मिलेगा यदि कंपनी को loss होता है तो आपको भी आपको loss होगा या आपके सभी पैसे डूब भी सकते है 

लेकिन इसमें पहले सिर्फ आमिर लोग, Expert ही निवेश कर सकते थे लेकिन Equity-based crowdfunding की वजह से कोई भी Common man इसमें निवेश/दान कर सकता है
 
यदि आप Equity-based crowdfunding की मदद से startup करने की सोच रहे है तो मैं आपको बताना चाहता हु कि startup के लिए Equity-based crowdfunding बहुत जोखिम से भरा है. 

इसलिए invest करने से पहले इसके बारे में पूरी जानकरी जरूर ले। ये जानकारी सिर्फ आपकी Knowledge के लिए है क्युकि भारत में Equity-based crowdfunding ban है

Debt-based crowdfunding

Debt-based crowdfunding को peer-to-peer lending crowdfunding (P2P) भी कहा जाता है  

ये Entrepreneurs और Businessman को बिना बैंक से loan लेने की अनुमति देता है जैसे आपको लोन लेने के लिए bank के चक्कर लगाने पड़ते है इसमें वैसा नहीं होता है इससे आपको जरुरत अनुसार loan मिल जाता है 

जिससे आप अपने काम कर सकते है लेकिन आपको पैसे वापस लौटते समय ब्याज का भुगतान करना होता है इससे आप अपने काम आसानी से पुरे कर सकते है 

Lending Club, Prosper, Funding Circle, Upstart, GoFundMe, Indiegogo, GiveForward, YouCaring आदि Debt-based crowdfunding platforms के उदाहरण है.



निष्कर्ष

आज जाना कि Crowdfunding क्या है? (Crowdfunding in Hindi) इसकी भारत में शुरुआत कब हुई? Crowdfunding का इतिहास क्या है? Types fo Crowdfunding, Rewards-based crowdfunding, Donation-based crowdfunding, Equity-based crowdfunding, Debt-based crowdfunding.
 
यदि आपको हमारी आज की पोस्ट पसंद आयी है तो please इसे share करे. post आपको कैसे लगी comment करके हमे जरूर बताये

Post a Comment

और नया पुराने