EDI-kya-hai-in-hindi
Image Source - Google | Image by - CANVA

क्या आप एक ऐसा रास्ता खोज रहे हैं जिसके माध्यम से आप जानकारी का मज़बूती से आदान-प्रदान कर सकें? खैर, ईडीआई आपके लिए सबसे अच्छा समाधान है जो कंप्यूटर सिस्टम के बीच डेटा का तेज और सटीक आदान-प्रदान संगठनों के लिए सक्षम बनाता है 

यदि आप EDI के बारे में जानकारी नहीं रखते है तो चिंता की कोई बात नहीं है आज की हमारी ये पोस्ट इसी विषय पर आधारित है आज हम बात करेंगे कि EDI क्या है? (what is EDI in Hindi), इसका commerce में कैसे यूज़ किया जाता है? Electronic Data Interchange क्या है, EDI का फुल फॉर्म क्या होता है, EDI e commerce in hindi, EDI कितने प्रकार के होते है, Types of edi, EDI के फायदे और नुकसान क्या है, EDI का इस्तेमाल क्यों किया जाता है, क्या आपको EDI का इस्तेमाल करना चाहिए? चलिए इन सभी प्रश्नो के बारे में जानते है

 

EDI क्या है(What is EDI in Hindi)

यदि मैं आपको short में बताऊ तो EDI, standardized format है यदि आपको अभी भी समझ नहीं आया तो चलिए बारीकी से समझते है. इसका काम व्यावसायिक जानकारी का Electronic Data Interchange करना है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका उपयोग offline किसी company को जानकारी भेजने के बजाय online (Electronic रूप) से जानकारी भेजने में किया जाता है 

EDI in hindi का उपयोग उन companies के द्वारा ज्यादा किया जाता है जिनका Business online (Electronic रूप) पर ज्यादा निर्भर होता है जिन्हे Business partners (व्यापारिक भागीदार) भी कहा जाता है.

ऐसा नहीं है कि EDI का उपयोग अभी अभी होना शुरू हुआ है इसका उपयोग दशकों पहले भी होता था और आज भी चालू है. 1960 के दशक में इसका उपयोग “Computer Exchange to Computer” के तौर पर होता था 

जिसमे company के व्यावसायिक दस्तावेजों को computer की मदद से online भेजा और प्राप्त किया जाता था. EDI का उपयोग करके online कई महत्वपूर्ण Business documents का भी आदान-प्रदान किया जा सकता है लेकिन ज्यादातर purchase orders और invoices में इसका उपयोग किया जाता है.


EDI ने Business के लिए mail भेजने के काम और Handling को आसान बना दिया है. EDI का use आज कल ज्यादा किया जाता है 

क्युकि इसमें पहले की तरह "Paperwork" काम नहीं करना पड़ता है। इसने Paperwork को कम कर दिया है. EDI मुख्य रूप से आपके द्वारा किये जा रहे दो offline कामो की जगह ले लेता है. पहला ये कि आप आम जीवन में कागज का इस्तेमाल करते है उसकी जगह Electronic कागज ने ले ली 

दूसरा ये कि जब भी आपको किसी को कोई कागज/document भेजना होता था तो आप खुद जाके देके आते थे या post office की मदद लेते थे उसकी जगह electronic mail ने ले ली है यदि आप भी ये दो काम करते थे या करते है तो आप भी EDI का इस्तेमाल कर सकते है. 

EDI आपकी कंपनी के समय और धन को बचा सकता है और आपको एक बेहतर व्यवसाय भागीदार बना सकता है इसकी मदद से व्यापार करना आसान हो जाता है आप हर दिशा में व्यापार कर सकते हैं।

 

EDI full form in Hindi

EDI का फुल फॉर्म Electronic Data Interchange (EDI) होता है. जिसका हिंदी में मतलब "इलेक्ट्रॉनिक सुचना का आदान प्रदान" होता है.

 

EDI कैसे काम करता है?

EDI कैसे काम करता है? इसको समझने के लिए एक Example लेते है कल्पना कीजिये

  1. आप का एक Business है और आपको किसी दूसरे को documents भेजने है
  2. सबसे पहले Document तैयार करें
  3. अपने Document को EDI format में Translate कर ले.
  4. Data collect और व्यवस्थित कर ले
  5. अंत में अपने EDI documents को business partner से साथ Connect करे और ट्रांसफर करे
  6. ये तो इसका Shortcut में परिचय था चलिए Details से समझते है


EDI system क्या है?

EDI का उपयोग करके व्यवसायों के बीच डेटा के आदान-प्रदान करने के लिए सॉफ्टवेयर जा यूज़ करना EDI सिस्टम कहलाता है होस्टिंग प्रोवाइडर के जरिये कुछ EDI सिस्टम को एक्सेस किया जा सकता है
अधिकांश EDI सिस्टम घर में तैनात और प्रबंधित होते हैं। ईडीआई सिस्टम कई दशकों से उपयोग किये जा रहे है और आपके व्यापारिक भागीदारों के साथ डेटा का आदान-प्रदान करने के लिए एक तेज, विश्वसनीय कम लागत वाला साधन प्रदान कर रहे है।

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे.

 


Components of EDI in Hindi

EDI चार मुख्य घटकों के आधार पर काम करता है

  1. Standards (मानक)
  2. Translation software (अनुवाद सॉफ्टवेयर)
  3. Integration एकीकरण
  4. Communication (VAN) संचार (VAN)

EDI में संचार विधियों और संस्करणों के प्रकार, जैसे कि X12 या EDIFACT, और उनके संबंधित संस्करण 4010, 5010 और अन्य अनुपालन मानक शामिल होते है.

 

EDI Transmission के लिए आपको नीचे दिए गए कुछ Step follow करने होते है 

  1. Manual entry view EDI software (मैनुअल प्रवेश दृश्य EDI सॉफ्टवेयर)
  2. Exporting computer-based data from a spreadsheet or database (स्प्रेडशीट या डेटाबेस से कंप्यूटर-आधारित डेटा निर्यात करना)
  3. Reformatting reports into data files (डेटा फ़ाइलों में सुधार रिपोर्ट)
  4. Enhancing existing applications, such as ERP, to create the output files for your needs that are ready for translation into the agreed-upon standard (मौजूदा अनुप्रयोगों, जैसे ईआरपी को बढ़ाना, आपकी आवश्यकताओं के लिए आउटपुट फाइल बनाने के लिए जो सहमत-मानक में अनुवाद के लिए तैयार हैं)
  5. Purchase and utilization of EDI software with a built-in interface for your EDI transactions (ईडीआई सॉफ्टवेयर की खरीद और उपयोग आपके ईडीआई लेनदेन के लिए बिल्ट-इन इंटरफेस के साथ)

 

इसके बाद आपको Document Translation करना होता है नीचे दिए गए Step को देखे

  1. Segments
  2. Data Elements
  3. Delimiters
  4. Terminators
  5. Envelope
  6. Control Segments
 

EDI e commerce in hindi

EDI commerce आयोजित करने का एक तरीका है और यह इलेक्ट्रॉनिक है इसलिए तकनीकी रूप से यह commerce है। जिसका काम दस्तावेजों को प्रसारित करना और खरीद और बिक्री की प्रक्रिया को करना है यदि शार्ट फॉर्म में बात करू तो EDI का यूज़ ऑर्डर को लेने के लिए होता है order को बुक करने से delivery तक का काम भी इसका ही होता है

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे.

 

EDI के प्रकार (Types of EDI in Hindi)

EDI in hindi निम्न 8 प्रकार की होती है

  1. Direct EDI/Point-to-Point
  2. Mobile EDI
  3. EDI Outsourcing
  4. EDI Software
  5. EDI via VAN or EDI Network Services Provider
  6. EDI via AS2
  7. EDI via FTP/VPN, SFTP, FTPS
  8. Web EDI



EDI का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

EDI in hindi का उपयोग Documents आदान प्रदान करने के अलावा कई प्रकार से होता है जैसे आदान प्रदान करने की क्षमता Manually रूप से बढ़ा सकते हो, 

Data entry में आने वाली Error को खत्म कर सकते हो, इसमें transactions को verify करने के लिए Content को verify करने की सुविधा उपलब्ध है जिसमे EDI standards और software की मदद ली जाती है.

EDI के कई प्रकार Version उपलब्ध है जिसमे कम लगत और अधिक लगत वाले EDI है काम को तेजी और सुरक्षा के साथ करने वाले EDI है EDI model का पहला काम Document को exchange करना ही है.

कभी कभी जब आप को Business को शुरू करते है या business partners, vendors के काम करने के लिए आपको EDI का use करना अनिवार्य कर दिया जाता है

EDI in hindi का use करके आप चालान की प्रकिया को पूरा कर सकते है कैसे चलिए समझते है

यदि किसी company को किसी ग्राहक को चालान भेजना होता है तो वो क्या करती है? वो अपने Computer system में चालान को तैयार करती है या बनाती है। उसके बाद उस चालान का प्रिंट निकलती है

फिर offline से Customer को भेजती है जब Customer को चालान मिलता है वो अपनी तरफ से पुरे Process को complete करता है 

जिसमे वो computer की मदद लेता है उसके बाद वो print निकलता है और बाकि Process को complete करता है जिसमे बहुत ज्यादा time waste होता है.

EDI इस काम को आसान करता है सारे Process को online करने में मदद करता है। EDI एक Software होता है जब कोई Customer कोई Product खरीदता है 

उसके Product की purchasing से लेकर उसके पास Product Deliver होने के बीच तक जो भी कागजी काम होते है उसे आप EDI Software के द्वारा कर सकते है

 

मैं EDI का इस्तेमाल कैसे शुरू करूं?

जैसा कि मैंने आपको बताया कि आप अपने Business / Company के लिए EDI का उपयोग कर सकते है ऐसा करने के लिए आपको नीचे दिए गए step को follow करना होगा.

ध्यान रहे आप हर एक step को बारीकी से पढ़ रहे है और follow कर रहे है

EDI in hindi का उपयोग करने के लिए आपको सबसे पहले पता होना चाहिए कि EDI आखिर काम कैसे करता है इसके लिए आपके पास सबसे पहले EDI Implementation guide होनी चाहिए. जिससे आपको समझना होगा कि Documents कैसे structure होते है

आपको EDI Software खरीदना होगा. जिसमे आपको document maps और translator मिल जाता है इस Software का उपयोग आप Order, shipment आदि में कर सकते हो

Software को purchase करने के बाद Software को setup कर ले. इसके बाद आप और आपके ट्रेडिंग पार्टनर Document exchange का test करके check कर सकते है कि आखिर EDI Software कैसे काम करता है.

EDI के अलावा भी Document exchange करने के और भी कई तरीके है जैसे Internet EDI, Value Added Network (VAN), और Direct one-to-one/peer-to-peer आदि।

आपका EDI Software सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं। ये समय समय पर जानने के लिए एक EDI solution provider के साथ एक टेस्ट को सेट करे.

Duplicate document / copy document को Transfer करने से बचे ऐसी चीजे आपके business के नजरिये से गलत हो सकती है अपने Business में जो भी service आप दुसरो को प्रदान कर रहे है उसको समय समय पर सुधारते जरूर रहे

किसी भी व्यापार में किसी भी टाइप की supply चैन को मेंटेन करने और व्यापार में बढ़त करने के लिए EDI लागु करना बहुत जरुरी है EDI की मदद से बिज़नेस के परिचालन प्रदर्शन में सुधार देखने को मिलता है ये आपकी लागत को भी कम करता है EDI डेटा प्रवाह को तेज करता है, सटीकता बढ़ाता है और प्रशासन को सुव्यवस्थित करता है


EDI के फायदे क्या है?

  • EDI in hindi, कागज के use को कम करता है
  • इससे Document आदान प्रदान में वाली error को कम किया जा सकता है
  • EDI, कागज के use में होने वाले खर्च को कम करता है.
  • इसकी मदद से Document या फाइल को तेजी से दूसरी जगह भेजा जा सकता है
  • What is edi in hindi, EDI कागज के use में होने वाली प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम करता है
  • इससे आपके Business को बढ़ावा मिलता है और आपका Customer Attraction भी बढ़ता है
 

EDI का नुकसान क्या है?

कई बड़े संगठन EDI का उपयोग करके आपस में ही Business करते है इससे यह व्यवसाय सीमित हो सकता है

  • EDI in hindi का उपयोग छोटे व्यवसायों या नए व्यवसायों के लिए महंगा होता है
  • EDI कई मानकों का उपयोग करता है जो अक्सर Business सीमित कर सकते हैं कि कितने Device network से जुड़े हो सकते हैं. 
उदाहरण के लिए, XML वेब-टेक्स्ट भाषा में सख्त मानकीकरण नहीं है और यह कई Programmer को Coding में योगदान करने की अनुमति देता है।
  • कठोर मानकों के अलावा, EDI में बहुत सारे दस्तावेज़ों के साथ बहुत सारे कठोर मानक निकाय भी हो सकते हैं, जो cross-compatibility के मुद्दों के कारण खराबी कर सकते हैं, जो निश्चित रूप से आपका सामना करेंगे क्योंकि आप और अधिक मानकों को लागू करना जारी रखेंगे
 

निष्कर्ष

आज हमने जाना कि EDI क्या है? (what is EDI in Hindi) और इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की है

उम्मीद करते है आपको ये post पसंद आयी होगी. यदि ऐसा है तो post को sshare जरूर करे. ये जानकारी आपको कैसी लगी comment करके हमे जरूर बताये.

Post a Comment

नया पेज पुराने

Recent Posts